21

November 2017
ਸੁਰਜੀਤ ਬਿੰਦਰਖੀਏ ਨੂੰ ਯਾਦ ਕਰਦਿਆਂ.... - ਹਨੀ ਸੋਢੀਮੈਨੁਰੇਵਾ ਵਿਖੇ 24 ਸਾਲਾ ਭਾਰਤੀ ਮੂਲ ਦੀ ਫੀਜ਼ੀਅਨ ਔਰਤ ਦਾ ਕਤਲ-ਮਾਮਲਾ ਸ਼ਨੀਵਾਰ ਅੱਧੀ ਰਾਤ ਦਾ‘ਬਾਮਸੇਫ’ ਦੀ ਰੰਘਰੇਟਿਆ ਅਤੇ ਦਲਿਤਾਂ ਦੇ ਜੀਵਨ ਪੱਧਰ ਨੂੰ ਉੱਚਾ ਚੁੱਕਣ ਵਾਲੀ ਭਾਰਤ ਪੱਧਰ ਦੀ ਜਥੇਬੰਦੀ ਵੱਲੋਂ ਅੰਮ੍ਰਿਤਸਰ ਵਿਖੇ ਹੋ ਰਹੇ ਸੰਮੇਲਨ ਵਿਚ ਹੁੰਮ-ਹੁਮਾਕੇ ਪਹੁੰਚਿਆ ਜਾਵੇ : ਟਿਵਾਣਾ"ਮਿਸ਼ਨਰੀ ਸਰਬਜੀਤ ਸਿੰਘ ਧੂੰਦਾ ਦਾ ਵਿਰੋਧ ਕਿਉ ? ਵਰਿੰਦਰ ਸਿੰਘ ਮਲਹੋਤਰਾ ਕਿੱਧਰੇ ਮਿਲ ਜਾਵੇਂ ਮੇਰੇ ਦਾਤਾ, ਨਿਰਮਲ ਕੋਟਲਾਦੇਸਾ ਵਿੱਚੋ ਸੀ ਸੋਹਣਾ ਦੇਸ ਪੰਜਾਬ / ਮਨਜੀਤ ਕੌਰ ਢੀਡਸਾ ਗ਼ਜ਼ਲ // ਬਿਸ਼ੰਬਰ ਅਵਾਂਖੀਆਰੀਤ ( ਮਿੰਨੀ ਕਹਾਣੀ ) ਮਾਸਟਰ ਸੁਖਵਿੰਦਰ ਦਾਨਗੜ੍ਹਹਾਲੈਂਡ ਵਿੱਚ ਸੈਕੰਡ ਵਰਲਡ ਵਾਰ ਦੇ ਸ਼ਹੀਦਾਂ ਨੂੰ ਦਿੱਤੀ ਗਈ ਸ਼ਰਧਾਂਜਲੀਪੰਜਾਬ 'ਚ ਧੁੰਦ ਦਾ ਕਹਿਰ / ਜਸਵੀਰ ਸ਼ਰਮਾ ਦੱਦਾਹੂਰ
Hindi

किसान संघर्ष कमेटी ने किया मानावाला रेलवे स्टेशन पर रेल का चक्का जाम।

September 29, 2017 10:00 PM

किसान संघर्ष कमेटी ने किया मानावाला रेलवे स्टेशन पर रेल का चक्का जाम।


जंडियाला गुरु 30  ,सितंबर (कुलजीत सिंह )आज हज़ारों किसानों मजदूरों और औरतों द्वारा कर्जा मुक्ति ,फसलों के भाव जैसी मांगे  मनवाने के लिए मानावाला रेलवे स्टेशन पर दुपहर करीब 1 बजे धरना दिया ।इस अवसर पर संबोधित करते हुए सरवन सिंह पंधेर ,गुरलाल सिंह  पंडोरी ,  हरप्रीत सिंह सिधवां ,गुरचरण सिंह चब्बा ने कहा कि पहले हरे इंक़लाब द्वारा किसानों को रसायन खेती की ओर धकेलने खाद। ,दवाइयां और कृषि औज़ार बनाने  वाली कंपनी बनाने वाले अरबपति बन गए हैं ।जबकि किसान आर्थिक शोषण का शिकार हो रहे हैं। और वह खुदकुशी कर रहे हैं।पंजाब में विधानसभा चुनाव के दौरान कैप्टन ने किसानों और मजदूरों के साथ बहुत सारे लिखित वायदे किये थे जो वह अब नही पूरे कर रहे ।किसान नेताओं ने कहा कि कृषि के काम मे आमदन कम हो रही है।उन्होंने ने मांग की कि किसानों कर्ज़ माफ किया जाए ,आढ़तियों ,शाहूकार के पास पड़े बैनामे ,वही ,खातों की मान्यता रद्द की जाए ।स्वामीनाथन की रिपोर्ट लागू कर फसलों के भाव तय किये जायें।धान की खरीद तुरन्त चालू की जाए 1509 बासमती का भाव 4500 रुपये और 1109 का 5000 रुपये प्रति क्विंटल किया जाए ।फसलों की वेस्टेज संभालने के लिए प्रति एकड़ 6000 रुपये मुआवजा ,या 90% सब्सिडी पर किसानों को कृषि औज़ार उपलब्ध कराए ।कैप्टन सरकार युवाओं को नशा मुक्त कर उन्हें रोजगार देने का प्रबंध करे ।सरकारी औऱ निज्जी जायदाद नुकसान रोको एक्ट जून 2017 रद्द किया जाए ।किसान आंदोलन दौरान शहीद हुए किसान मजदूरों के परिवारों को नौकरी और कर्ज माफ किया जाए ।किसानों पर आन्दोन के दौरान दर्ज किए गए मामले रद्द किए जाएं।इस मौके पर रणबीर सिंह गुरदासपुर ,सविंदर सिंह होशियारपुर , सुख सिंह ठठा ,लखविंदर सिंह प्लासौर ,सलविंदर। सिंह जेओबला,लखविंदर सिंह वरियाम ,सतनाम।सिंह सठियाल ,जवाहर सिंह टांडा ,चरण सिंह बैंका, बाज़ सिंह सारँगड़ा ,गुरजीत सिंह गंडीविंड ,धन्ना सिंह लालू घुमन ,दयाल सिंह मिणविड ,सुखविंदर सिंह दुग्गलवाला ,गुरविंदर सिंह भरोवाल मुख्तार सिंह भंगवा ,सविंदर सिंह रूपोवाली। ने संबोधित किया।अमृतसर के डी सी कमलदीप सिंह संघा द्वारा किसानों नेताओं को 16अक्तूबर को पंजाब के मुख्य मंत्री से मिलवाने का भरोसा दिलवाकर धरना करीब ६ बजे उठवाया

Have something to say? Post your comment
 
Punjabi in Holland
Email : hssandhu8@gmail.com

Total Visits
php and html code counter
Copyright © 2016 Punjabi in Holland. All rights reserved.
Website Designed by Mozart Infotech